(दुध का सही इस्तेमाल)अच्छी से अच्छी चीज का इस्तेमाल गलत तरीके से करने पर वही फायदा पहुचाने के बजाय हमे नुकसान पहुचाता है

दोस्तो, आज के इस आर्टीकल में हम जानेंगे की दुध कितना पिना चाहिये, कब पिना चाहिये, और इसके बारे मे बहोत कुछ जानेंगे

Posted February 2,2019 in Education.

Anoop Kumar Pal
124 Followers 74 Views

Friends, आर्टीकल थोड़ा लम्बा जरूर है पर आपको रूकना नही है पढ़ना है, चूकी अच्छी सीख के लिये अच्छी मेहनत भी करनी पड़ती है और  मै आपको विश्वास दिलाता हूँ की इस आर्टीकल को पढ़ने के बाद दुध से related आपके सारे confusion दुर हो जायेंगे और आगे से आप दुध का सही इस्तेमाल भी करना शुरू कर देंगे।

दोस्तो दुध हमे जिवित प्राणि से मिलता है इसलिये इसमे Hormones, enzymes और  amino acid कि मात्रा ज्यादा होती है इसलिये ज्यादातर खाने के साथ Cemical reation भी जल्दी होता है जिससे कि दुध ठिक से पच नही पाता और दुध से मिलने वाला फायदा भी शून्य हो जाता है इसलिये दुध पिने मे हमारे द्वारा कि गयी छोटी से छोटी गलती भी दुध से मिलने वाले फायदे को नुकसान मे बदल सकता है

 

इसलिये आज के इस आर्टीकल में हम जानेंगे की दुध कितना पिना चाहिये, कब पिना चाहिये, दुध गर्म या ठंडा पिना चाहिये, किनको गाय का दुध पिना चाहिये और किनको भैंस का पिना चाहिये, किसे दुध पिना चाहिये और किसे नही पिना चाहिये, दुध को केले या फिर अंडे के साथ इस्तेमाल करना चाहिये या फिर नही और आखिर मे बात करेंगे कि वजन घटाने और बढाने वाले लोगो को दुध कब और कैसे पिना चाहिये। तो चलिये शूरू करते है ---------

 

दोस्तो दुध एकमात्र ऐसी चीज है जो अकेले हि सम्पूर्ण आहार के बराबर होती है, और यही वजह है कि पैदायशी बच्चे को जो चीज सबसे पहले आहार के रूप मे दी जाती है वो दुध ही होता है, क्योकी अगर दुध के गुड़ को देखे तो वो किसी अमृत से कम नही है। दुध मे लगभग सारे पोषक तत्व पाये जाते है, इसीलिये दूध पिना हमारे शरीर के Health और fitness लिये बहोत हि जरूरी हो जाता है, लेकिन अगर आप अच्छी से अच्छी चीज का इस्तेमाल गलत तरीके से करते है तो वही, फायदा पहुचाने के बजाय हमे नुकसान पहुचाता है इसलिये किसी चीज को को इस्तेमाल करने से पहले उसके बारे मे जानना हमारे लिये बहोत जरूरी होता है जैसे – कैसे इस्तेमाल करें, कब इस्तेमाल करें, आखिर इस्तेमाल ही क्यों करें आदि।

 

दुध क्या होता है ---------

दुध एक Animal prduct होता है जो हमे किसी जिवित प्राणी से मिलता है और हर वो चीज जो हमे जिवित प्राणी से मिलता हैं उसमे cemical reaction करने की  tendency बहोत हि ज्यादा होती है जिसकी वजह से दुध का गलत मात्रा मे इस्तेमाल और गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर अपचन, खट्टी डेकारें, गैस, कब्ज़ सिने मे जलन और यहां तक कि स्किन अलर्जी जैसी समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है, इसलिये दुध का सही मात्रा मे इस्तेमाल इसे पीने का सही समय और दुध को किन- किन चीज़ो के साथ मिलाकर पीने से क्या–क्या फायदा और क्या-क्या नुकसान हो सकता है इसके बारे मे जानना बहोत हि जरूरी होता है

 

दुध पीने के फायदे और नुकसान --------------

  1. फायदा - दुध पोषक तत्व से फरपुर होता है, इसलिये इसे सही समय पर और सही तरीके से इस्तेमाल करने पर ये पाचन तंत्र को ठिक करता है, दिमागी ताकत को बढाने के अलावा वजन का बढना, घटना, हड्डीयो कि कमजोरी, कब्ज, रातो को नींद ना आना जैसे बिमारी के साथ साथ त्वचा, बाल और Sexual health को भी काफी हद तक Improve करने मे ये हमारी मदद करता है
  2. नुकसान – वैसे तो दुध पिने से कोई नुकसान या फिर side effect नही होता पर हाँ दुध का गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर अपचन, खट्टी डेकारें, गैस, कब्ज़ सिने मे जलन और यहां तक कि स्किन अलर्जी जैसी समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है

 

दुध कितना पिना चाहिये -----------

दुध मे कैल्सियम, प्रोटीन, और विटामिन डी की मात्रा सबसे अधिक होती है। 200 मि0लि0 दुध मे लगभग 257 मि0ग्रा0 कैल्सियम होता है और हमारे शरीर को एक दिन मे 1000 से लेकर 1200 मि0ग्रा0 कैल्सियम कि जरूरत होती है, तो अगर इस हिसाब से देखा जाये तो हमे प्रतिदिन 1 से 2 ग्लास दुध पीना चाहिये चूकी बाकी कैल्सियम और विटामिन हमे दुसरे खानो से मिल जाता है, लेकिन अगर आप ज्यादा मेहनत वाला कार्य करते है या फिर ज़िम जाते है तो दुध की मात्रा, थोड़ी बढायी जा सकती है

 

दुध कब पिना चाहिये -----------

अक्सर लोग खाना खाने के तुरंत बाद ही दुध पी लेते है जबकी ऐसा नही करना चाहिये, पोषक तत्व के नज़रीये से दुध एक वक्त के खाने के बराबर होता है और अगर हम खाना खाने के तुरंत बाद, दुध पी लेते है तो इसका मतलब होता है कि एक ही समय मे दो वक्त का खाना खा लेना, इसलिये खाना खाने के तुरंत बाद हि दुध का इस्तेमाल बिल्कुल नही करना चाहिये, चूकी ऐसा करने से भारीपन महशूस होने लगता है और साथ हि साथ एसिडीटी, पेट का फूलना और अपचन जैसी समस्यायें शूरू होने लगती है इसलिये दुध का इस्तेमाल खाना खाने के दो घंटे बाद और सोने से आधे घन्टे पहले ही करना चाहिये

 

दुध शाम को पिना ज़्यादा फायदेमंद क्यों -----------

वैसे तो दुध का इस्तेमाल कभी भी किया जा सकता है लेकिन रात मे दुध का सेवन करना सबसे फायदेमंद होता है, क्योकी दुध मे Triptophane नामक amino acid पाया जाता है जो दिमाग को शांत करके अच्छी नींद दिलाने मे बहोत मदद करता है, और सुबह अच्छे से पेट भी साफ होता है कुछ लोग इस बात को लेकर Confuse रहते है कि दुध का इस्तेमाल खाली पेट करना चाहिये या नही; वैसे सुबह मे खाली पेट दुध का इस्तेमाल किया जा सकता है, पर जिन लोगो को लैक्टो से अलर्ज़ि है या फिर अक्सर कब्ज, गैस और अपचन जैसी समस्या होती है उन्हे खाली पेट दुध बिल्कुल भी नही पिना चाहिये, चूकी दुध पचने मे थोड़ा Heavy  होता है और खाली पेट, इसके सेवन से हमारे पाचन तंत्र को बहोत मेहनत करनी पड़ती है।

 

दुध गर्म या ठंडा पिना चाहिये ----------

दोस्तो दुध हमेशा हल्का गर्म यानि गुनगुना हि पीना चाहिये, चूकी दुध वैसे भी पचने मे थोड़ा Heavy  होता है लेकिन जब हम ठंडा या फ्रिज़ मे रखा दुध पी लेते है तो वो ज्यादा Heavy हो जाता है और ये हमारे पेट मे जाकर ठीक से पच नही पाता और जिसकी वजह से दुध मे मौजूद पोषक तत्व का पुरा फ़ायदा हमारे शरीर को मिल ही नही पाता।

 

किनको गाय का दुध पिना चाहिये और किनको भैंस का -----------

गाय और भैंस दोनो के दुध मे कैल्सियम काफी मात्रा मे पाया जाता है लेकिन भैंस के दुध मे गाय के दुध के मुकाबले FAT और calories दोनो ही ज्यादा मात्रा मे होते है इसलिये जो लोग वजन बढ़ाना चाहते है उन्हे भैंस का दुध पीना चाहिये और जो लोग वजन घटाना चाहते है उन्हे गाय का दुध पीना चाहिये चूकी गाय  के दुध मे  FAT कि मात्रा कम होती है और पचने मे भी हल्का होता है।

 

दुध का इस्तेमाल खाने के पहले या बाद मे करना चाहिये --------

दुध का इस्तेमाल आप खाने के पहले और बाद मे भी कर सकते हैं लेकिन दुध और दुसरे खाने के बीच 2 से 3 घंटे का अंतराल, दुध और मिठे फल के बीच कम से कम आधे घंटे का अंतराल जरूर रखना चाहिये

 

दुध का इस्तेमाल किन चीजो के साथ करना चाहिये और किन चीजो के साथ नही ----------

दोस्तो दुध का मेल खट्टी चीज़ो, Junk foods, ज्यादा नमकीन या चटपटी चीज़ो के साथ नही बनता, इसलिये अगर दुध का इस्तेमाल खट्टी चीज़े, Junk foods, ज्यादा नमकीन या फिर चटपटी चीज़ो के साथ करने से ये पेट मे जाकर मिलने के बाद पाचन क्रिया को धीमा कर देते हैं जिससे अपचन, भारीपन, गैस, खट्टी ढेकारे, कमजोरी और पेट दर्द जैसी समस्या शूरू हो जाती है इसलिये दुध पिने के पहले या बाद   या फिर इसके साथ भी खट्टी चीज़ो का, Junk foods का, ज्यादा नमकीन या चटपटी चीज़ो का इस्तेमाल बिल्कुल भी नही करना चाहीये।

 

दुध के साथ केले और अंडे का इस्तेमाल -----------

कुछ लोग दुध के साथ केले या सेब को मिलाकर सेक बनाकर पिते है, अगर आपको पाचन कि समस्या नही होती तो आप दुध के साथ केले या सेब का इस्तेमाल करीये लेकिन अगर आप आयुर्वेद की माने तो दुध अपने आप मे थोड़ा Heavy होता है जिसे पचने लगभग 90 मिनत का समय लगता है और दुध को जब किसी आहार के साथ मिला देते है तो ये और भी ज्यादा Heavy हो जाता है जिसे पचाने की लिये हमारे पाचन तंत्र को बहोत मेहनत करनी पड़ती है और हम एक गल्ती और करते है, जो हम सेक बनाने मे ठंडे दुध का इस्तेमाल करते है साथ ही साथ हम इसमे चीनी भी मिला देते है जोकी किसी भी तरह ये सही आप्सन नही है दुध का ठंडा होना, दुध को और भी ज्यादा Heavy बना देता है और दुध मे चीनी मिलाने से ये दुध के पोषक तत्व को काफी हद तक नष्ट कर देता है, वैसे भी दुध मे खुद लैक्टोस नामक सुगर होता है जो दुध को मीठा बनाता है लेकीन अगर आप दुध को अलग से मीठा करना चाहते है तो आप इसमे शहद, मिश्री देशी खांड, जेग्गरी पाउडर का इस्तेमाल कर सकते है

 

दुध का इस्तेमाल मछली, अंडे और Non-veg के साथ -----------

कहा जाता है कि दुध के साथ, पहले या बाद मे भी मछली का सेवन कर लिया जाय तो चमड़ी पर सफेद रंग के धब्बे पड़ जाते है यानि ल्यूकोडेरमा (leucoderma) जैसी बिमारी हो जाती है हालाकि ये बात अभी वैग्यानिको के द्वारा सिद्ध नही हो सकी है, लेकीन फिर भी इसे नज़र अंदाज नही किया जा सकता चुकी हमारे बड़े बुज़ुर्ग के अनुसार ये धब्बे दुध के साथ मछली जैसे मांसाहारी चीज़ो के सेवन से ही होते हैं, फिर भी अगर आपको खाना हि है तो इन दोनो के बीच कम से कम 2 से 3 घंटे का अंतराल जरूर रखिये, अगर आपको Digestive की Problem नही है तो आप गोस्त या अंडे के साथ दुध का इस्तेमाल कर सकते है लेकिन ध्यान देने वाली बात ये है कि दुध और अंडे दोनो मे ही प्रोटिन पाया जाता है जिससे यह पाचन क्रिया को धीमा कर देता है और इसे पचने मे काफी समय लगता है इसलिये Non-veg के साथ दुध का इस्तेमाल करना एक अच्छा आप्सन बिल्कुल भी नही है

 

दुध का दही के साथ इस्तेमाल क्यों नही करना चाहिये ----------

दोस्तो दुध का इस्तेमाल दही के साथ नही करना चाहीये क्योकि दही मे लैक्टो बैस्लेस नामक वैक्टेरिया होता है जो दुध को दही मे जमाता है और जब हम दुध तथा दही का सेवन एक साथ कर लेते है तो लैक्टो बैस्लेस नामक वैक्टेरिया दुध को दही मे जमाने की प्रक्रिया को शुरू कर देता है, जिससे हमारा Digestive system पुरी तरह से confuse हो जाता है और पाचन क्रिया मे समस्या आ जाती है इसलिये दुध का भी दही के साथ सेवन बिल्कुल भी नही करना चाहिये।

 

दुध किन लोगो को नही पिना चाहिये ----------

दोस्तो जिन लोगो के शरीर पे कोइ बड़ा जख्म है, या फिर हाल हि मे सर्जरी हुई हो उन्हे कुछ दिनो के लिये दुध का इस्तेमाल बंद कर देना चाहिये क्योकी दुध के लगातार इस्तेमाल से जख्म जल्दी नही सूखता, या फिर उनको डक्टर से सलाह लेकर दुध का इस्तेमाल करना चहीये। जिन लोगो को लैक्टो से एलर्जी है या जिनके चेहरे पर हमेशा Pimples की  problem रहती है उन्हे भी दुध कम मात्रा मे इस्तेमाल करना चाहिये और शरिर का Response  देखते हुए धीरे-धीरे दुध की मात्रा बढ़ानी चाहिये।

 

अगर अब आपके मन मे कोई प्रश्न या सुझाव हो तो जरूर करें

 

दोस्तो इसी के साथ विदा लेते है और मिलते है अगले नये और दिलचस्प आर्टिकल के साथ तब तक के लिये ------------

Good bye, have a nice day.

Thanks

Anoop kumar

 

Anoop Kumar Pal Articles

Read more

Education
February 2, 2019 | 270 Views

Education
February 2, 2019 | 111 Views

Science and Technology
February 2, 2019 | 102 Views

Education
February 2, 2019 | 64 Views